Nios Deled 509 Assignment 2 Answer 2 with Question

Share:
Nios Deled 509 Assignment 2 का Answer 2 with Question: "अपनी कक्षा को सिक्षार्थी केन्द्रित बनाने के लिए कुछ (कम से कम) पांच गतिविधियाँ तैयार कीजिये"

इसमें मैं 509 असाइनमेंट के दुसरे प्रश्न का उत्तर अपने शब्दों में लिख दिया है जिसे आप भी अपने द्वारा लिखे जा रहे असाइनमेंट में लिख सकते है कोई भी गलती होने पर स्वयं सुधार कर ले और उत्तर को 500 शब्दों में देना का प्रयास करे |




Nios Deled 509 Assignment 2 Answer 2 with Question

प्रश्न 2) अपनी कक्षा को सिक्षार्थी केन्द्रित बनाने के लिए कुछ (कम से कम) पांच गतिविधियाँ तैयार कीजिये |

उत्तर) सामाजिक पढने वाले एक शिक्षक का दाय्तिव है कक्षा को रुचिकर बनाना | यह तभी संभव है जब अधिगमकर्ता शिक्षण अधिगम प्रक्रिया में सक्रिय रूप से भाग लेते है | सामान्य लक्षण जो एक सामाजिक विज्ञान की कक्षा में अपेक्षित है पर निम्नलिखित अनुच्छेद में चर्चा किया गया है |

अधिगाम्कर्ताओ के अनुभवों का उपयोग करना - 

प्रत्येक अधिगमकर्ता समाज का एक सदस्य है और अपने वातावरण से सक्रियता से अन्तःक्रिया करता है | अधिगमकर्ताओं के अनुभव शिक्षण के लिए अच्छे संसाधन है | अधिगमकर्ताओ के अनुभवों का उपयोग करना अधिगमकर्ताओ को व्यक्त करने के साथ-साथ कक्षा-कक्ष प्रक्रियाओ में भाग लेने का एक अवसर देता है |

उदाहरण - जब आप कृषि में प्रयुक्त प्रक्रियाओ को पढ़ाते है, आप विद्यार्थियो से पूछ सकते है की किसने उन प्रक्रियाओ को देखा है, उन्हें वर्णन करने को कह सकते है |

(ii) पाठ्यपुस्तक के अतिरिक्त पढना -

एक संसाधनपूर्ण शिक्षक विषय वास्तु को हमेशा अधिगमकर्ताओ के ज्ञान वातावरण से सम्बन्ध करता है | यह विषय वस्तु की समझ को आसान बनता है |

उदाहरण - जब आप भारत के स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों के बारे में बात करते है तो आप अधिगमकर्ताओ के स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों के राज्य के क्षेत्र का पता लगाने को कह सकते है |

जाने : Jio सिम में फ्री में इन्टरनेट कैसे चलाये ?

(iii) समुदाय के संसाधनों का उपयोग करना -

समुदाय दोनों प्रकार के संसाधनों मानवीय एवं प्राकृतिक का एक भण्डार गृह है | विद्यालय एवं समुदाय के बीच एक मजबूत जुड़ाव की जरूरत है | इसे विद्यालय गतिविधियों में समुदाय को शामिल करके ही प्राप्त किया जा सकता है | इसे दो तरीके से किया जा सकता है | पहला अधिगमकर्ताओ के समुदाय के अनुभवजन्य  अधिगम को लेता है और दूसरा समुदाय को विद्यालय में आमंत्रित करता है

उदाहरण - जब संदाय सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन करता है तो विद्यालय के छात्र कार्यक्रम में भाग ले सकते है | यदि विधालय स्वास्थय सम्बन्धी मुद्दों पर कोई परिचर्चा करना चाहता है तो बच्चो को संबोधित करने के लिए स्थानीय कार्यकर्ताओ को आमंत्रित कर सकता है |

(iv) सामाजिक मुद्दों में अन्वेषण के लिए स्थान सृजित करना - 

सामाजिक विज्ञान शिक्षण का एक उद्देश्य है बच्चो को समाज की चुनौतियो एवं समस्याओ के प्रति संवेदनशील बनाना | शिक्षक जब तक स्थानीय मुद्दों को पाठ से नहीं जोड़ सकते है, बच्चे अपने समाज के मुद्दों को तब तक समझ नहीं पाते है इसलिए आपसे सामाजिक विज्ञान कक्षं में सामाजिक मुद्दों के अन्वेषण के अवसरों को सृजित करना अपेछित है |

उदाहरण - लैंगिक भेदभाव हमारे देश के अधिकाँश भागो में प्रचलित सामाजिक मुद्दों में से एक है | लैंगिक भेदभाव में किये जाने वाले कार्यो का पता लगाने के लिए बच्चो द्वारा उनके पड़ोस के घरो में दौरा का एक अध्ययन किया जा सकता है | आप बच्चो के साथ एक अध्ययन की योजना कर सकते है किलैंगिक भेदभाव पर क्या सूचना एकत्रित करना जरूरी है, कितने घरो से, कहा से तथा डाटा को कैसे संकलित किया जाता है तथा खोजो को लिखा जाता है | बच्चो को उन्हें स्वयं कार्य को साझा करने को कहा जाना चाहिए |

(v) मानव अधिकारों की चर्चा करना - 

सामाजिक विज्ञान एक विषय है जिसमे मानव अधिकारों की चर्चा के लिए प्रचुर विस्तार है | अधिगमकर्ताओ को एक समाज को सृजित करने में इन अधिकारों के प्रति जागरूक बनाया जाना चाहिए जो कि लोगो को सम्मान करता है |

उदाहरण - आधारभूत स्वास्थय सेवाये एक मानवाधिकार है | राज्य की नीति के निर्देशक सिद्धांतो के बारे में चर्चा करते समय आप चर्चा कर सकते है की कैसे मानवाधिकार इन नीतियों में प्रदर्शित होता है |

No comments