क्या हैं क्रिप्टोकरेंसी व इसके प्रकार

Share:

बहुत से लोगो के मन में प्रश्न हैं क्या हैं क्रिप्टोकरेंसी? कुछ लोग इसे समय में पैसे कमाने का एक जरिया मानते हैं तो कुछ लोग इसे शेयर बाजार के रूप में जानते हैं जबकि ऐसा नहीं हैं | Cryptocurrency एक प्रकार की virtual currency हैं जिसे खरीद व बेच कर पैसा कमाया  जा सकता हैं | देखा जाए तो क्रिप्टो मुद्राओं ने कुछ ही वर्षो में भारत में अपनी पकड मजबूत कर ली हैं | 

इन मुद्राओं पर स्वामित्व सरकार के पास नहीं होने के कारण 5 देशो ने (चाइना, इंडोनेशिया, टर्की, इजिप्त, बोलीविया) इस Currency को पूरी तरह ban कर रखा हैं | हालंकि भारत में गिनी चुनी Crypto exchange platform हैं जहा से क्रिप्टो का आसानी से किफायती दरी में व्यापार कर सकते हैं |

क्या हैं क्रिप्टोकरेंसी व इसके प्रकार

अगर आप इस Digital currency में व्यापार करने या जानने की इच्छा रखते हैं तो आज हम इस लेख में हिंदी में बतायेगे की Cryptocurrency क्या हैं व यह कितने प्रकार की होती हैं | 

क्या हैं क्रिप्टोकरेंसी (What is Cryptocurrency in Hindi)

क्रिप्टोकरेंसी एक प्रकार की Digital Currency हैं जिसका उपयोग वस्तुओं और सेवाओं के लिए ऑनलाइन आदान-प्रदान किया जा सकता है | वही दूसरी तरह इसे Decentralized digital money भी कहते हैं जो Blockchain नामक तकनीक पर आधारित हैं | 

Bitcoin को सबसे पहली क्रिप्टोकरेंसी के रूप में जाना जाता हैं जिसे मुख्यतः ऑनलाइन भुक्तान के रूप में कार्य करने लिए विकसित किया गया था | इसकी लोप्रियता की बात करे तो बिटकॉइन का शुरूआती मूल्य भारतीय बाजार में 6 रूपए था जिसका वर्तमान मूल्य छियालीस लाख पार कर चुका हैं |

Cryptocurrency की बात करे तो यह (P2P) peer to peer या 'Decentralized' एक्सचेंज एक सॉफ्टवेयर-आधारित प्लेटफॉर्म है जो तीसरे पक्ष को सम्मिलित किये बिना सीधे एक दुसरे के साथ व्यापार करने की स्वीकृति प्रदान करता हैं |

Cryptocurrency के प्रकार 

आप में से बहुत ने Cryptocurrency में  केवल Bitcoin के बारे में सुना होगा परन्तु इसके अलावा भी कई क्रिप्टो मुद्राए हैं जिनके बारे में आप एक नजर डाल सकते हैं - 

Bitcoin (BTC)

अगर हम क्रिप्टो बाजार में कदम रखने जा रहे हैं और हमें Bitcoin के बारे में पता न हो ऐसा हो नहीं सकता | यह सबसे पहली Cryptocurrency हैं जिसे Santoshi Nakamoto ने 2009 में बनाया था | 

Bitcoin का वास्तिवक में कोई अस्तित्व नहीं होता और इसे माइनिंग पद्धति से produce करने के कारण इसकी कीमत बढ़ जाती हैं | इसका अंदाजा आप इस बात से लगा सकते हैं कि जुलाई 2010 में 1 Bitcoin के कीमत 6 से ७ रूपए तक थी जो वर्तमान में 47 लाख Indian Rupees के बराबर हैं |


Ethereum (ETH)

एथेरियम - एक ब्लॉकचेन आधारित नेटवर्क है जिसका मुख्य रूप उपयोग मूल्य को स्टोर करने या सामान खरीदने व बेचने के लिए किया जाता हैं | Ethereum के Founder व Programmer का नाम Vitalik Buterin हैं इस Cryptocurrency को Either (ETH) या Ethereum के नाम से भी जाना जाता हैं |

वास्तविक दुनिया के अनुप्रयोगों में महान मूल्य संगृहीत करने की क्षमता होने के कारण Ethereum को Bitcoin से बेहतर माना जाता हैं और इसकी क्रिप्टोक्यूरेंसी अब बाजार मूल्य में बिटकॉइन के बाद दूसरे स्थान पर है।

Dogecoin

Dogecoin एक inflationary currency हैं जिसके Founder का नाम Billy Markus और Jackson Palmer हैं | यह करेंसी भी ब्लाकचेन पर आधारित हैं व कहा जाता हैं कि इसकी coding काफी हद तक Bitcoin से मिलती जुलती हैं |

हालांकि Dogecoin का नाम काफी मजाकिया लगता हैं लेकिन इसकी बढती face value से आप चौक जायेगे | Coinmarketcap की खबर के अनुसार  सन दिसम्बर 2014 में  Dogecoin मात्र 42 पैसे थी जो की आज 20 रूपए से ऊपर हो चुकी हैं | 

Ripple (XRP)

Ripple जिसे Short form में XRP के नाम से भी जाना जाता हैं इसके Founder अमेरिका के दो व्यक्ति Chris Larsen और Jed McCaleb हैं | इसे Ripple Labs द्वारा बनाया गया था जो सभी Ripple लेनदेन की पुष्टि करने के लिए Blockchain mining तकनीक के बजाय बैंको के स्वामित्व वाले सर्वर का उपयोग करती हैं |

Ripple को Crypto marketplaces में list करते समय इसकी कीमत भारतीय रूपए में 1 रूपए से भी कम थी जो की आज 82 रूपए का आकडा पार कर चुकी हैं |  

Monero (XMR)

Monero एक decentralized cryptocurrency हैं जिसकी Blockchain अपारदर्शी हैं यह प्रेषकों और प्राप्तकर्ताओं की पहचान व उनके पते, लेनदेन के विवरण, लेनदेन की राशि, जैसी कई चीजो को छुपाये रखता हैं | Monero mine करने के लिए विशेष हार्डवेयर के लिए भुक्तान करने की आवश्यकता न होने के कारण निवेशक स्वयं के CPU का उपयोग करके इसे mine कर सकते हैं |

Peercoin (PPC)

Peercoin एक Hybrid Cryptocurrency हैं जो Bitcoin के ढांचे पर आधारित हैं | हालांकि Bitcoin की अपेक्षा यह कम उर्जा खपत करता हैं  व PoS सिस्टम से सभी लेनदेन को सत्यापित करता हैं | इसके अलावा Peercoin मे पूर्ण गुमनामी प्रदान करता है, और बिना किसी केंद्रीय प्राधिकरण के इंटरनेट पर भेजा जा सकता है, जैसे कि बिटकॉइन, डैश, लिटकोइन, इत्यादि |

Shiba Inu

Sihiba Inu की शुरुआत 2020 में हुई थी जिसे औपचारिक रूप से Shiba Token के नाम से जाना जाता हैं | यह Ethereum Network द्वारा संचालित होते हैं | वैसे Shiba Inu कुत्ते की एक नस्ल हैं जिसे Dogecoin के प्रतीक के रूप मे दर्शाया गया हैं | शुरुआत में इसके दाम काफी कम थे लेकिन Elon Musk के एक ट्वीट से रातो रात SHIB token के दामो में बढ़ा उछाल देखने को मिला हैं | 

Litecoin (LTC)

Litecoin भी Digital Currency का एक रूप हैं जो आकार में छोटा होने के कारण इसमें लेनदेन काफी आसान व सस्ता हैं | Litecoin में सिक्को का निर्माण Cryptographic Protocol के द्वारा किया जाता हैं जिस वजह से खनन प्रक्रिया काफी तेज़ होती हैं | यह peer to peer crytocurrency की समानताये bitcoin से काफी मेल खाती हैं व यह इसके मूल श्रोत कोड पर आधारित भी हैं |


Tron (TRX)

Tron भी blockchain-based decentralized digital platform पर आधारित हैं जिसके Founher का नाम Justin Sun हैं | Tron को tronix या Trx भी कहा जाता हैं जिसकी 2018 तक Market Value 4.05 बिलियन थी  | वही Tron लेनदेन में Utxo मॉडल की उपयोग करता हैं जो Bitcoin द्वारा उपयोग किये जाने वाले लेनदेन मॉडल के समान्तर हैं |

No comments