श्री गणेश जी की आरती हिंदी में | Shri Ganesh Ji Ki Aarti in Hindi - Jai Ganesh Jai Ganesh Deva

 पौराणिक हिन्दू धर्म में गणेश भगवान का महत्त्वपूर्ण स्थान है। किसी भी कार्य से पहले या पूजन में सबसे पहले गणेश भगवान को ही पूजा जाता है गणेश भगवान एकमात्र ऐसे देवता हैं, जिनके चित्र सबसे अधिक अलगअलग आकृतियों में देखने को मिलते हैं। सभी देवताओं में गणेश भगवान की पूजा अर्चना सबसे पहले की जाती है। 

गणेश ज़ी का जन्म भाद्रपद शुक्ल चतुर्थी को मध्याह्न में हुआ था । ये शिव और पार्वती के दूसरे पुत्र हैं। भगवान गणेश का स्वरूप अत्यन्त ही मनोहर एवं मंगलदायक है । गणेश भगवान एकदन्त और चतुर्बाहु हैं। अपने चारों हाथों में वे क्रमश पाश, अंकुश, मोदक पात्र तथा वरमुद्रा धारण करते हैं।वे रक्तवर्ण, लम्बोदर, शूर्पकर्ण तथा पीतवस्त्रधारी हैं।

Shri Ganesh Ji Ki Aarti in Hindi


गणेश जी की आरती हिंदी में

जय गणेश जय गणेश जय गणेश देवा

माता जाकी पार्वती पिता महादेवा


जय गणेश जय गणेश जय गणेश देवा

माता जाकी पार्वती पिता महादेवा


एक दिन दयावन्त चार भुजा धारी

मस्तक सिन्दूर सोहे मुसे की सवारी

पान चढ़े फूल चढ़े और चढ़े मेवा

लड्डू अन का भोग लागो सन्त करे सेवा


अन्धन को आँख देत कोढ़िन को काया

बांझन को पुत्र देत निर्धन को माया


हार चढ़े फूल चढ़े और चढ़े मेवा

सूरश्याम शरण आए सुफल की जेसेवा


जय गणेश जय गणेश जय गणेश देवा

माता जाकी पार्वती पिता महादेवा


इसे भी देखे: शुभ विवाह मुहूर्त 2023 & 2024


Shri Ganesh Ji Ki Aarti in English

Jai Ganesh, Jai Ganesh, Jai Ganesh Deva

Mata Jaki Parvati, Pita Maha Deva


Jai Ganesh Jai Ganesh, Jai Ganesh Deva

Mata Jaki Parvati, Pita Maha Deva


Ek Dant Daya Want, Char Bhuja Dhari

Ek Dant Daya Want, Char Bhuja Dhari


Mathe Sindur Sohai, Muse Ki Sawari

Pan Chadhe Phool Chadhe, Aur Chadhe Meva

Laduan Ko Bhog Lage, Sant Kare Seva


Jai Ganesh Jai Ganesh, Jai Ganesh Deva

Mata Jaki Parvati, Pita Maha Deva


Andhan Ko Aankh Det, Kodhin Ko Kaya

Bajhan Ko Purta Det, Nirdhan Ko Maya


Surya Shaam Sharan Aye, Safal Kije Sewa

Jai Ganesh Jai Ganesh, Jai Ganesh Deva

Mata Jaki Parvati, Pita Maha Deva


Bolo Ganpati Bappa Ki Jai!