Deled Course 507 Assignment 2 Answer 2

Share:
Deled course 507 Assignment 2 के 2 का Answer मैं यहाँ पे आज दे रहा हु आप इसे असाइनमेंट में लिख सकते है

इस उत्तर को मैंने nios की वेबसाइट से पीडीऍफ़ से छाटकर लिखा है इसलिए कोई भी त्रुटी होने पर इसमें आप सुधर कर सकते है और हमें कमेंट के माध्यम से बता सकते है
Deled Course 507 Assignment 3 Answer 
Deled Course 507 Assignment 2 Answer 2
प्रश्न:- सामुदायिक संचालन क्या हैं ? एक विद्यालय तंत्र के लिए यह क्यों आवश्यक हैं ? एक शिक्षक के नाते एक प्रभावशाली समुदाय संचालन बनने के लिए आपके पास कौन से गुण और कौशलों का होना आवश्यक हैं ? चर्चा कीजिए |

उत्तर :- जहाँ पर स्थानीय स्व – शासन का तंत्र हैं , वहां पर अधिकांश निर्णय स्थानीय लोगो द्वारा स्थानीय स्तर पर ही लिए जाते हैं | समुदाय के विकास हेतु यह सर्वोतम उपाय हैं | जहाँ लोग स्वयं योजना बनाते हैं और लागु करते हैं | इसी को सामुदायिक संचालन कहते हैं |
सामुदायिक संचालन विद्यालयी तंत्र के लिए आवश्यक हैं -
  • इन्तेर्वेशन की मांग करने में |
  • अधिक / कठिन मुश्किलों तक पहुंचने में |
  • शिक्षा को प्रभावित करने वाले मुद्दों को संबोधित करने में : लिंग भेद जागरूकता के कमी में |
  • इन्तेर्वेष्ण की सामर्थ्य तथा प्रभाविकता को बढ़ाने में |
  • सामुदायिक स्वामित्व तथा उसकी निरंतरता को बढ़ाने में |
  • कार्य के लिए अतरिक्त संसाधनों के योगदान में |


एक शिक्षक के नाते एक प्रभावशाली समुदाय संचालन बनने के लिए गुण और कौशल होना आवश्यक हैं |

एक संचालक वह व्यक्ति हैं | जो संचालन करता हैं तथा चीजों को सक्रिय बनता हैं | वह समुदाय के लिए महत्वपूर्ण सामान्य लक्ष को प्राप्त करने के लिए वातावरण बनाने में निम्न रूप से एक उत्प्रेरक का कार्य करता हैं |

सामुदायिक संचालन के लिए आवश्यक है -

  • आपसी विश्वास स्थापित करना
  • लोगो को साथ मिलकर काम करना 
  • सहभागिता को बढ़ावा देना 
  • सरलता से कार्यो को होने में सहायता करना 
  • चर्चा और निरनत लेने में सहज्कर्ता के रूप में |
  • सामुदायिक संचालन की प्रक्रिया में |

दृष्टिकोण :-

  • सभी समुदाय सदस्यों के प्रति सम्मान
  • सामुदायिक भिन्ता की समझ
  • प्रभावी कार्य करने के लिए समुदाय की क्षमता पर विश्वास
  • एक स्थिति को जांचने की स्वेच्छा
  • आनिर्णत्मक तथा उपागम को स्वीकारना

कौशल :-

  • निर्णय लेने तथा योजना बनाने में समुदाय की प्रत्येक व्यक्ति की सहभागिता सुनिश्चित करना |
  • अच्छे संप्रेषण , विशेषकर सुनना |
  • सामुदायिक संचालन की प्रक्रिया तथा उनके सिद्धांतो का पूर्व ज्ञान |
  • समुदाय की समझ |

निम्नलिखित बातो का एक शिक्षक में होना आवश्यक है |

शिक्षक को चाहिए की अपने समुदाय तथा उसके तात्कालिक मुद्दों को पहचान करें | बेहतर निष्पादन वाले बच्चे को सहपाठी अधिगम के लिए चुनाव करना | सहपाठी विद्यार्थियों को ख़राब निष्पादन वाले विद्यार्थियों की पृष्ठभूमि की जानकारी एकत्रित करना | विद्यालय के निश्च्चित छेत्र मर रहनेवाले विद्यार्थी को सहायता करना |

वशिष्ट शिक्षको की पहचान नियोजित प्रविधियो की चर्चा करना | शिक्षको की पहचान उनके विषय में कमजोर विद्यार्थियों के निष्पादन पर फीडबैक तथा उनकी पृष्ठभूमि के बारे में जानकारी प्रदान करना | एक ऐसे वातावरण का निर्माण करना जिसमे व्यक्ति स्वयं की तथा समुदाय की आवश्यकताओं को समझ सके |

जो बच्चे परिक्ष में कम अंक लाते है उसके लिए व्यक्तिगत रूप से चर्चा करना | बच्चे विद्यालय में क्यों नही आते है उसके बारे में पता करना व्यक्तिगत रूप से चर्चा करना | कक्षा में अध्ययन समूह बनाना | अच्छे व ख़राब निष्पादन वाले बच्चे को मिलकर रखना ताकि सहपाठी अधिगम सुनिश्चित हो | एक शिक्षक के पास विद्यालय में कई जिम्मेदारियाँ होती है | इसके लिए समय का संसाधन बहुत कम होता हैं | तभी हमारे शिक्षक समायोजन करके संबंध व्यक्तियों को समय देने का प्रयास करना |

मैपिंग के अंतर्गत कार्यक्रम क्षेत्र का भ्रमण , उस क्षेत्र में उपलब्ध सुबिधाओं की जानकारी के लिए वहां के निवासियों के साथ विचार – विमर्श , समुदाय का प्रोफाइल तथा अन्य जानकारी शामिल करना |

 इस प्रकार सामुदायिक संचालक एक ऐसा व्यक्ति है जो सामुदायिक प्रतिभागिता सुनिश्चित करता हैं | और यह सुनिश्चचित करता हैं  की सामान्य लक्ष के प्राप्ति के लिए संसाधनों का संचालन करना चाहिए |

No comments