Deled Course 514 - Practice Teaching (विद्यालय समुदाय सम्बन्ध)

Share:
Deled course 514 - Practice Teaching (शिक्षण अभ्यास) की प्रति विषय अलग अलफ फाइल बनेगी और प्रति विषय के अलग Lesson Plan बनेगे | जिहे जमा करने की अंतिम तिथि 30 November 2018 है |


  • भाषा (हिंदी / अंग्रेजी / उर्दू / संस्कृत / फारसी / तमिल / पंजाबी , इत्यादि) |
  • गणित 
  • पर्यावरण अध्ययन (EVS)
  • सामजिक विज्ञान / विज्ञान 
deled course 514 practice teaching

ये सभी workshop based activities है जिसे आपको जल्द से जल्द तैयार करके अपने study center पे जमा करना है |

विद्यालय समुदाय सम्बन्ध 

जैसा की हम जानते है विद्यालय और समुदाय के बीच बहुत गहरा सम्बन्ध है | बिना समुदाय के बीच विद्यालय अधूरा है | स्कूल को चलने के लिए, विचारो को रखने के लिए, आदर्शो, क्रियाकलापों को चलने के लिए एक समुदाय होना अति आवश्यक है | विद्यालय समुदाय के जीवन एवं उसकी प्रगति पर बहुत प्रभाव डालता है |

विद्यालय अपने विचारों और कार्यो द्वारा समुदाय का पथ प्रदर्शन करके उसे प्रगति की ओर ले जाता है | समुदाय विद्यालय की जीवन की वास्तविक परिस्थितियो का प्राथमिक ज्ञान प्रदान करता है | इस प्रकार दोनों एक दुसरे को सहायता प्रदान करते है |

समुदाय को विद्यालय के निकट लाना 

समुदाय को विद्यालय के निकट निम्नलिखित उपायों को अपनाकर लाया जा सकता है |

समुदाय के सदस्यों को आमंत्रित करना :- 

विद्यालय सामुदायिक जीवन में विभिन्न क्षेत्रो में कार्य करने वाले लोगो को आमंत्रित करे | ये लोग अपने व्यवसायों तथा अन्य सामाजिक तथ्यों पर प्रकाश डालकर छात्रो को सामुदायिक जीन की ठोस परिस्थितियों के बारे में प्राथमिक ज्ञान प्रदान कर सकते है |


अभिभावक शिक्षक संघ : 

समुदाय को विद्यालय में लाने के लिए अभिभावक शिक्षक संघ महतवपूर्ण भूमिका अदा कर सकता है | छात्रो के माता पिता को शिक्षण कार्य में निम्नलिखित प्रकार से प्रदान किया जा सकता है |

जाने : B.ed वालो को PDPET Bridge Course क्यों करना होगा?

फ़िल्म शो और प्रदर्शनिया :-

फिल्मो के माध्यम से समुदाय को विद्यालय के निकट लाया जा सकता है | इनमे भाग लेने तथा देखने के लिए स्थानीय समुदाय को आमंत्रित किया जाए |


सामुदायिक जीवन की विभिन्न क्रियाओ का संगठन :-

समुदाय को विद्यालय के निकट लाने के लिए विद्यालय में सामुदायिक जीवन के विभिन्न क्रियाओ का आयोजन किया जाए |

सामुदायिक समस्याओ का समाधान :-

विद्यालय जिस समुदाय में स्थित है | उसे उस समुदाय के विभिन्न समुदाय के समाधान के लिए कार्य करना है|
विद्यालय एवं समुदाय की भागीदारी निम्नलिखित विधियों से सुनिश्चित की जा सकती है |

विद्यालय के दायित्वों की पहचान :-

जैसा की हम जानते है विद्यालय समाज का एक छोटा सा रूप है इसलिए विद्यालयों का दायित्व बढ़ जाता है | अतः हम निम्नलिखित द्वारा वर्णन कर सकते है |
  • बैंको में सामाजिक चेतना का विकास करना |
  • बालको में उनकी समाज के सांस्कृतिक विरासत को हस्तांतरित करना |
  • बालक को समाज के लिए तैयार करना |
  • बालको को व्यक्तिगत , पारिवारिक एवं सामुदायिक स्वच्छता के बारे में बताना
  • बालको में नैतिकता के भावना को विकसित करना |

समुदाय के दायित्वों की पहचान :-

जैसा की हम जानते है विद्यालयों के प्रति समुदाय का दायित्व होता है |
  • शिक्षको के हितो को ध्यान में रखना जिससे की शिक्षक पूरी ईमानदारी तथा तल्लीनता के साथ बच्चो को शिक्षा दे सकें |
  • बालको को स्कूल भेजना चाहिए |
  • समय - समय पर शिक्षक तथा अभिभावक के साथ बैठक करते रहना चाहिए |

विद्यालय साधनों का समुदाय के लिए उपयोग :- 

जैसे की हम जाने है विद्यालय में रखे गए साधन समुदाय के लिए ही होता है और इसका अधिकतम उपयोग भी समुदाय के लिए होता है | बच्चो के साथ कोई भी नुकसान नहीं होने का भी ध्यान रखा जाना चाहिए |
सामुदायिक साधनों का विद्यालय के लिए उपयोग :
विद्यालय के छात्रो में धारणाओं के विकास के लिए समुदाय के निम्नलिखित प्रमुख साधनों का उपयोग करना चाहिए |

प्रशासकीय संस्थाए :- 

इसके अंतर्गत वे संस्थाए और विभाग आते है | जीके द्वारा स्थानीय प्रशासन सम्बन्धी कार्य किये जाते है | उदाहरण के लिए नगरपालिका ,  ग्राम पंचायत , जिला पंचायत आदि |

सार्वजनिक सेवा संस्थाए : 

समाज सेवा में सत् क्रियाशील पोस्ट आफिस , टेलीग्राम , बैंक आदि संस्थाओ के कार्यो संशाधन का ज्ञान कराकर छात्रो को व्यवहारिक बनाया जा सकता है |

विभिन्न प्रकार के उद्योग केंद्र :- 

प्रत्येक समुदाय का स्थानीय उद्योग एवं कला कौशल केंद्र होता है जबतक छात्रो को उनके कार्यो का निरिक्षण नहीं दिया जायेगा |
  • विद्यालय एवं सामुदायिक भागीदारी से सम्बंधित चुनौतियो के निवारण हेतु शिक्षण की भूमिका |
जैसा की हम जानते है विद्यालय एवं समाज के बीच बहुत बड़ा सम्बन्ध होता है | परन्तु इस सम्बद्ध में शिक्षक की भूमिका हो जाती है | शिक्षक ही विद्यालय के प्रतिनिधि के रूप में समुदाय की भागीदारी को सुनिश्चित करता है |

3 comments:

  1. Sir 514wba formet upload Kar dijiye

    ReplyDelete
  2. Agar koi apna assignment nahi jama kar paya hai to kya kare

    ReplyDelete
    Replies
    1. now you can not do anything, tell your problem to co-coordinator

      Delete