VPS Hosting क्या हैं? What is Virtual Private Server Hindi

Share:
हेल्लो दोस्तों, आप प्रतिदिन internet पर कुछ ना कुछ ढूँढ़ते जरूर रहते होगे और हर बार आपके सामने अनेको websites आती होगी | आपके मन में भी ख्याल आता होगा की खुद की एक website हो लेकिन इसको बनाने से पहले आपको web hosting के बारे में पूरा पता होना चाहिए | वैसे ये कई तरह की होती है जिसमे मैं आपको आज बताउगा की VPS Web Hosting क्या है? 

VPS (Virtual Private Server) के बारे में जानने के साथ ये कैसे काम करती हैं और इसका इस्तेमाल कैसे किया जाता है ये सभी जानकारी आपको इस पोस्ट में मिल जायेगी | इसके साथ साथ कौन सा hosting plan लेना सही रहेगा और ये कितने प्रकार के होते हैं ये सभी बाते अपनी अगली पोस्ट में जरूर लिखुगा |

vps hosting क्या हैं


VPS Hosting क्या हैं ?

VPS hosting को आप उसके नाम से समझ सकते है जिसमे private शब्द जुड़ा हैं जिसका मतलब होता है निजी या फिर अपना | ये कुछ ऐसे सर्वर होते हैं जिसको हम किसी के साथ साझा नहीं कर सकते व virtual server के लिए अलग अलग resourse का इस्तेमाल किया जाता हैं | इसे आप Physical server भी बोल सकते हैं |

आजकल वैसे काफी लोग इसमें ज्यादातर बड़े व्यापारी अपनी वेबसाइट को होस्ट करने
के लिए इसका इस्तेमाल कर रहे है क्युकी इसमें किसी भी तरह की दखलंदाजी व परेशानी का सामना नहीं करना पड़ता हैं | 

लोगो की जरुरत को देखते हुए आने वाले समय में इसकी मांग व आवश्यकता दोनों बढ़ने वाली है क्यूंकि ये technology आज की दुनिया के लोगो के हिसाब से सफल साबित हो रही हैं |

अगर आप अब भी नहीं समझ पाए तो आप इसे कुछ इस तरह से समझ सकते है की VPS hosting आपका खुद का घर में इसमें सिर्फ आप ही रह सकते हैं और इसे आप किसी के साथ शेयर नहीं कर सकते | इस घर में आपका पूरा नियंत्रण हैं और इसे आप जैसे चाहे वैसे चला सकते हैं |

VPS का इस्तेमाल कब करे?

अधिकतर लोगो को ये नहीं पता होता की vps hosting का इस्तेमाल का कब करे | मैं यहाँ उन लोगो को बताना चाहता हु की इसका उपयोग हम छोटे ब्लॉग या छोटी websites को होस्ट करने में नहीं कर सकते क्यूंकि इसकी service सामान्य होस्टिंग के हिसाब से महंगी पड़ती हैं और इसका criteria काफी बड़ा हैं जिससे बड़े से बड़ी वेबसाइट आराम से इसपर चल सके | इसका इस्तेमाल आप इस तरह कर सकते हैं -

Website पे ज्यादा traffic आने पर

आप लोगो को पता ही होगा की blogger की hosting में सबसे बड़ी कमी ये हैं की वो एक limited traffic ही support कर सकता हैं इसलिए जब भी आपके blog या website पे ज्यादा traffic आने लगे तो उस समय आपको shared hosting से vps hosting में आने की आवश्यकता होगी |

Website पर पूरा नियंत्रण पाने के लिए 

सबसे अच्छी बात ये हैं की virtual private server में आपको पूरा control मिलता हैं जिसमे आप होस्टिंग लेते समय अपने कंप्यूटर के हार्डवेयर के अनुसार आपको उसके अनुसार स्पीड भी मिलेगी | vps service लेते समय आपको Operating System चुनने की भी आजादी मिलती हैं जिसमे आप Windows, Linux, Ubunto, Debian, Mint अदि OS चुन सकते है |

VPS Hosting लेने के फायदे 

  • ये होस्टिंग बहुत fast और  secure हैं |
  • इस सर्विस औरो की अपेक्षा काफी सस्ती हैं और maintainenc का कोई खर्चा नहीं |
  • Shared server की तुलना में ज्यादा ट्रैफिक कण्ट्रोल करता हैं |
  • Web Application को चलने के लिए सबसे कारगर होस्टिंग हैं |
  • इसमें उपभोक्ता को OS के चुनने का full access होता हैं |


VPS Hosting लेने के नुक्सान 

  • इसमें दूसरी होस्टिंग के अपेक्षा मैनेज करना कठिन होता हैं |
  • छोटी website को होस्ट करने के लिए ये सर्विस काफी महंगी हैं |
  • बिना technical knowledge के इसे चलाना काफी मुश्किल हैं |
  • Share hosting के तुलना में कम resources मिलते हैं |
  • Dedicated Web Hosting के अपेक्षा में customize करना कठिन हैं |

दोस्तों मैं उम्मीद करता हु आपको VPS के बारे में बताई गई सभी बताई गई बाते समझ में आई होगी | अब आप किस web hosting का चुनाव करना हैं इसको लेकर परेशान नहीं होगे | अगर आप किसी बड़े online buisness को शुरू करने की सोच रहे हैं तो अब आपको hosting से सम्बंधित समस्याओ का सामना नहीं करना पड़ेगा |
अगर आपको हमारी ये पोस्ट पसंद आई हो तो इसे सोशल मीडिया पे शेयर करे और कमेंट करना ना भूले |

No comments