Copyrighted Content क्या हैं व इससे बचने के तरीके - हिंदी में

Share:
Copyrighted content क्या हैं या क्या होता हैं ये प्रश्न अक्सर आपके दिमाग में आता होगा तो मैं सामान्य शब्दों में बता दू की जब हम आम जीवन में किसी की नक़ल करते हैं तो उसे Copy करना कहते हैं वैसे ही इन्टरनेट पर हम किसी के लिखे हुए content, image, video, audio की नक़ल कर अपने blog पर डालते हैं तो उसे Copyrighted content कहते हैं.

अधिकतर नए bloggers अपने ब्लॉग पर जल्द से जल्द ट्रैफिक पाने के लिए किसी दुसरे ब्लॉग के content को उठा लेते हैं और अपने ब्लॉग पर पोस्ट कर देते हैं जो की उनकी सबसे बड़ी गलती होती हैं आगे आपको इसके बारे में पूरी जानकारी मिलेगी की हमें copyright content क्यों इस्तेमाल नहीं करना चाहिए व इससे होने वाले नुक्सान.


दोस्तों आपको मैं कहना चाहुगा की जल्दी फेमस होने के लिए कोई तरीका नहीं हैं आप केवल कड़ी मेहनत से अपने ब्लॉग को ऊपर उठा सकते हैं. आप कभी भी ये ना सोचे के content copy करने और उसमे थोडा फेरबदल करने के बाद ब्लॉग पोस्ट कर ट्रैफिक बढ़ा सकते हैं तो ऐसा कुछ नहीं होगा बल्कि हो सकता हैं आपके ब्लॉग की रैंकिंग और नीचे गिर जाए. इसलिए कभी भी ऐसा ना करे और ना किसी को करने की सलाह दे.

Copyright Content क्या हैं

Copyright के बारे में बारे में पहले ही काफी बता चूका हु फिर भी आप जान ले की नक़ल करके सीखना अलग बात होती हैं और हुबहू नक़ल करना अलग बात हैं. जैसे जब भी कोई कंपनी कोई मटेरियल बनती हैं तो उसका एक नाम देती हैं जिससे की उस नाम से कोई दूसरा व्यक्ति मटेरियल ना बेच सके अगर दूसरा व्यक्ति ऐसा करता हैं तो उसे copyright करना या नक़ल करना कहा जाएगा.


जब कोई कोई blogger अपने blog पे कोई भी content पोस्ट करता हैं तो वो अपनी बुद्धिमत्ता के अनुसार शब्दों का चयन करता हैं और पोस्ट में बहुत से चीजो का इस्तेमाल करता हैं. ऐसे में कोई दूसरा blogger उसके material का इस्तेमाल नहीं कर सकता अगर ऐसा करता भी है तो गूगल तुरंत पकड़ लेगा और उसके content को ब्लाक या rank गिरा देगा जो की आपके blog के लिए काफी नुक्सानदायक होगा और भविष्य में ब्लाक जैसी समस्या का सामना करना पड़ सकता हैं.

Copyrighted Content से होने वाले नुकसान

अगर आप इस फील्ड में नए हैं copyright से होने वाले नुक्सान से अनभिग्य हैं तो आप नीचे बताये गए बिन्दुओ से समझ जायेगे की किसी दुसरे ब्लॉग से copy करना आपने खुद के ब्लॉग के लिए कितना नुक्सानदायक हैं -
  • Google Adsense के अकाउंट के अप्लाई नहीं होगा और पहले से अकाउंट हैं तो वो भी ban हो जाएगा.
  • Original content पे आ रहा traffic भी धीरे धीरे कम होने लगेगा. 
  • Site Ranking धीरे धीरे गिरने लगेगी.
  • कम CPC मिलने लगेगी जिससे revenue कम होगी.  
  • किसी भी समय copyright strike पड़ सकती हैं जिसमें ब्लॉग search engine पे दिखना बंद हो जाएगा.

इससे बचने के उपाय 

इससे बचने का तरीका काफी साधारण हैं जिसमे आपको कही से कुछ भी copy नहीं करना हैं केवल अपने शब्दों का इस्तेमाल करना हैं जितना हो सके अच्छा content लिखे. दोस्तों मैं यहाँ बताना चाहुगा की अगर आप ऑनलाइन किसी चीज को edit करके पोस्ट में डालना भी चाहते हैं तो आपको google में advanced search > usage rights > free to use, share or modify, even commercially पे सेट करके खोजे उसमे आपको जो कुछ भी मिलेगा उसका इस्तेमाल आप बेधडक कर सकते हैं 

Copyright Content को कैसे पहचाने?

आपको ऑनलाइन कई websites मिल जायेगी जिसमे आप अपने ब्लॉग का URL डालकर copy किये गए content का पता कर सकते हैं. ध्यान रहे guest पोस्ट को चेक करने के बाद ही अपने ब्लॉग पर डाले इससे आप कॉपी किया मटेरियल डालने से बच जायेगे.

अगर आप अपने ब्लॉग पर पड़े हुए कंटेंट को पता करना चाहते हैं की उसमे कितना कॉपी किया हुआ हैं तो siteliner.com पर जाए और वह blog url डाल कर देख सकते हैं कितना content duplicate हैं 



अंत में मैं यही आशा करता हु की आपको मेरी ये पोस्ट पसंद आई होगी. आप ऊपर बताये गए तरीको का इस्तेमाल जरूर करे और कमेंट बॉक्स में लिखकर हमें जरूर बताये. आगे हम आपकी ऐसी ही सहायता करते रहेगे. ब्लॉग्गिंग से सम्बंधित किसी भी समस्या के लिए हमसे संपर्क जरूर करे धन्यवाद !

No comments